गुजरात ATS ने दाऊद इब्राहिम के गुर्गे बाबू सोलंकी को किया गिरफ्तार, 14 साल से था फरार

गुजरात ATS ने दाऊद इब्राहिम के गुर्गे बाबू सोलंकी को किया गिरफ्तार, 14 साल से था फरार

गुजरात एटीएस ने दाऊद इब्राहिम के दाएं हाथ बाबू सोलंकी को किया गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एटीएस (ATS) सूत्रों ने बताया कि बाबू सोलंकी (Babu Solanki) 2006 के एक गैंगवॉर के केस में वॉन्टेड है. फिलहाल वह शरीफ खान के लिए काम करता है, जोकि दाऊद इब्राहिम का खास है.

अहमदाबाद. गुजरात पुलिस (Gujarat Police) के आतंक निरोधक दस्ते (ATS) को शनिवार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. एटीएस ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के गुर्गे बाबू सोलंकी (Babu Solanki) को गिरफ्तार किया है. सोलंकी पिछले 14 साल से फरार चल रहा था. वह दाऊद इब्राहिम दाहिना हाथ माना जाता है. बाबू सोलंकी मेहसाणा के उंझा का रहने वाला है और मुंबई से ऑपरेट करता है.

एटीएस सूत्रों ने बताया कि बाबू सोलंकी 2006 के एक गैंगवॉर के केस में वॉन्टेड है. फिलहाल वह शरीफ खान के लिए काम कर रहा था, जोकि दाऊद इब्राहिम का खास है. बताया जाता है कि शरीफ खान कथित तौर पर पाकिस्तान में छिपा बैठा है. सोलंकी के खिलाफ गुजरात एटीएस जबरन वसूली, आपराधिक धमकी, आपराधिक साजिश सहित अन्य मामलों की जांच कर रही थी.

दो कारोबारियों से वसूली का लिया था कॉन्ट्रैक्ट

एटीएस सूत्रों की माने तो उंझा में स्थित एक शेयर कंपनी में काम करने वाले प्रगनेश पटेल नाम के शख्स के शेयर्स उसके दो पार्टनर ने बेच दिए थे. इसके लिए प्रगनेश को 10 करोड़ रुपये दिए जाने थे, लेकिन पार्टनर निलेश शाह और जिगर चोकसी बेईमानी कर गए. इन दोनों से पैसे निकालने के लिए प्रगनेश ने बाबू सोलंकी उर्फ राजू और ISI के कथित एजेंट साबिर मियां को कॉन्ट्रैक्ट दिया. सोलंकी को इसके लिए 3 करोड़ रुपये मिलने थे.

दोनों तरफ से दिया गया कॉन्ट्रैक्ट

उधर, निलेश शाह और जिगर चौकसी ने मोहम्मद अतीक उर्फ जहांगीर और इकबाल पटेल को हायर किया और बाबू सोलंकी और साबिर मियां से मुकाबला करने का कॉन्ट्रैक्ट दिया. इस बीच पुलिस ने जहांगीर और साबिर मियां को गिरफ्तार कर लिया. साबिर मियां के पास रिवॉलवर, पिस्तौल समेत सात जिंदा कारतूस बरामद किए. पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ कई संगीन धाराओं में केस दर्ज कर जेल में डाल दिया.

लूटपाट, हत्या, वसूली समेत कई मामलों में केस दर्ज

ATS के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने कहा कि बाबू सोलंकी इस घटना के बाद से फरार हो गया था और मुंबई में रहने लगा. फिर मुंबई से वह लूटपाट, वसूली, फिरौती जैसे कारनामों को अंजाम देने लगा. 2006 में सोलंकी को फिरौती के एक मामले में गिरफ्तार किया था. सोलंकी के खिलाफ 2008 में 32 लाख की लूट, 1996 में मुंबई में हत्या, 2015 में सिद्धपुर में डकैती और 2019 में फर्जी पुलिसवाला बनने जैसे गंभीर मामलों में केस दर्ज है.

ये भी पढ़ेंः-
कोरोना वायरस के लिए कुछ दवाओं का परीक्षण जारी, सबसे ज्यादा रेम्डेसिविर से उम्मीद: वैज्ञानिक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: May 23, 2020, 11:36 PM IST



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *