श्रीकांत की नाक से खून बहने के बाद एक्‍शन में आया बीडब्ल्यूएफ, थाईलैंड ओपन के आयोजकों से कर रहा है बात


श्रीकांत ने नाक से खून बहते हुए की कुछ तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की थी (फोटो क्रेडिट: श्रीकांत ट्विटर हैंडल )

श्रीकांत ने नाक से खून बहते हुए की कुछ तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की थी (फोटो क्रेडिट: श्रीकांत ट्विटर हैंडल )

दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी श्रीकांत की मंगलवार को कोरोना जांच हुई थी, जिसके बाद उनकी नाक से खून बहने लगा था. स्वास्थ्य अधिकारियों के रवैये से खफा श्रीकांत ने इसे ‘अस्वीकार्य’ बताया.

बैंकॉक. बैडमिंटन विश्व महासंघ ने बुधवार को कहा कि थाईलैंड ओपन (Thailand Open) के दौरान कोरोना जांच सुविधाजनक ढंग से सुनिश्चित करने के लिए वह आयोजकों के संपर्क में है. इससे पहले भारतीय खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) की नाक से टेस्ट के बाद खून बहने लगा था. दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी श्रीकांत की मंगलवार को कोरोना जांच हुई, जिसके बाद उनकी नाक से खून बहने लगा. स्वास्थ्य अधिकारियों के रवैये से खफा श्रीकांत ने इसे ‘अस्वीकार्य’ बताया.

बीडब्ल्यूएफ ने कहा कि आयोजकों ने खून बहने के कारणों की जानकारी दी. एक बयान में कहा कि कई दौर की कोरोना जांच के बाद किदांबी श्रीकांत की नाक से खून बहने लगा था. उनका तीन बार नमूना लिया गया और वह तनाव में भी थे. शायद उसी वजह से उनकी नाक से खून बह निकला.

जांच के करीब 5 मिनट बाद की गई शिकायत
बयान में कहा गया कि जांच कर रहे दल ने उस समय उनकी नाक से खून निकलता नहीं पाया और उस समय श्रीकांत ने भी कोई शिकायत नहीं की थी. इसके तीन से पांच मिनट बाद भारतीय टीम के एक अन्य सदस्य ने बताया कि उसकी नाक से खून बह रहा है.यह भी पढ़ें : 

पॉजिटिव पाए जाने के कुछ घंटे बाद ही नेगेटिव आई सायना नेहवाल की कोरोना रिपोर्ट

अंकिता अंतिम दौर में, रामकुमार ऑस्ट्रेलियाई ओपन क्वॉलिफायर से बाहर

महासंघ ने कहा कि यह पता नहीं है कि खिलाड़ी ने अपनी नाक टिश्यू से दबाई थी या उनकी नाक बह रही थी जिससे रक्त वाहिकाओं को चोट पहुंची. बयान में कहा गया कि आयोजकों से बात की गई है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि खिलाड़ियों और प्रतियोगियों की जांच सुविधाजनक और सुरक्षित माहौल में हो.






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *