BSF ने जम्मू-कश्मीर में ढूंढ न‍िकाली 150 फीट की सुरंग, पाकिस्तान से घुसपैठ करते थे आतंकी

इस सुरंग में कुछ पैरों के निशान भी मिले हैं. इस सुरंग का दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है.

इस सुरंग में कुछ पैरों के निशान भी मिले हैं. इस सुरंग का दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है.

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुलिस के मुताबिक, जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े चारों आतंकी सुरंग के रास्ते भारत में जम्मू के सांबा सेक्टर (Samba Tunnel) में दाखिल हुए. वहां से उन्होंने कश्मीर जाने के लिए चावल से भरे ट्रक में शरण ली थी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 24, 2020, 7:46 AM IST

श्रीनगर. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा (International Border) पर रविवार को बीएसएफ (BSF) के जवानों ने 150 फीट लंबी भूमिगत सुरंग (Samba Tunnel) का पता लगाया है. ऐसा शक है कि इस सुरंग का इस्तेमाल जैश ए मोहम्मद के आतंकवादियों के घुसपैठ के लिए किया जाता था.

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह के मुताबिक, इस सुरंग में कुछ पैरों के निशान भी मिले हैं. इस सुरंग का दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है. इस सुरंग में सुरक्षाबलों को पैरों के निशान के साथ खाने के पैकेट भी मिले हैं. सुरक्षाबलों को कुछ बिस्कुट के पैकेट मिले हैं, जिनपर मास्टर कुजीन कपकेक लिखा हुआ है. ये लाहौर का प्रोडक्ट है. इसपर मैन्यूफैक्चरिंग डेट मई 2020 लिखी हुई है और एक्सपाइरी डेट 17 नवंबर 2020 है. सुरक्षाबलों को शक है सुरंग में जो पैरों के निशान मिले हैं, वो आतंकियों के अलावा पाकिस्तानी रेंजर्स के भी हो सकते  हैं.

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि बीएसएफ के महानिरीक्षक, जम्मू सीमांत, एन एस जमवाल और पुलिस महानिरीक्षक, जम्मू क्षेत्र, मुकेश सिंह के साथ मौके का निरीक्षण किया. डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया, ‘जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के पास हाल ही में मुठभेड़ की जांच के बाद सुरंग का पता लगा है. पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से मिली कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को बीएसएफ के साथ साझा किया था, जिसने काफी प्रयासों के बाद सुरंग का पता लगा लिया.’

इस तरह भारत में घुसे थे आतंकीजम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े चारों आतंकी सुरंग के रास्ते भारत में जम्मू के सांबा सेक्टर में दाखिल हुए. वहां से उन्होंने कश्मीर जाने के लिए चावल से भरे ट्रक में शरण ली. वे चावल की बोरियों के बीच जगह बनाकर बैठ गए और आसानी से कई पोस्ट पार करते हुए गुरुवार सुबह 4.45 बजे नगरोटा बन टोल तक पहुंच गए. उन सभी को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय हाईवे के टोल प्लाजा पर रोक लिया गया. सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में चारों मारे गये. इस गोलीबारी में SOG के 4 जवान घायल हो गए, जिन्हें जम्मू के अस्पताल में भर्ती कराया गया.

आंतकियों के पास से मिले हथियार और गोला-बारूद
मारे गये आतंकवादियों के पास से हथियार और गोला-बारूद का बड़ा जखीरा पकड़ा गया था. इसमें 11 एके राइफल, तीन पिस्तौल, 29 ग्रेनेड, 6 यूबीजीएल ग्रेनेड थे. पुलिस के अनुसार ये आतंकवादी केंद्रशासित प्रदेश में 28 नवंबर से आठ चरणों में होने वाले जिला विकास परिषद के चुनावों में खलल डालने की बड़ी साजिश को अंजाम देने आये थे.

गौरतलब है कि पाकिस्तान द्वारा लगातार भारत में घुसपैठ की साजिश रची जा रही है. दो दिन पहले यानी शुक्रवार शाम करीब 6 बजे पाकिस्तान की तरफ से 2 ड्रोन अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करते हुए भारतीय सीमा में घुस आए थे. हालांकि, बीएसएफ के जवानों की गोलीबारी के बाद वे वापस पाकिस्तान की ओर भागने में सफल रहे. लेकिन इस घटना के बाद बॉर्डर पर जवान कड़ी चौकसी बरत रहे हैं. और पाक की नापाक हरकतों को हर बार नाकाम कर रहे हैं.



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *