CM येदियुरप्पा ने कैबिनेट का विस्तार किया, 7 मंत्रियों ने शपथ ली, आबकारी मंत्री हटाए गए

बीएस येडियुरप्‍पा ने कैबिनेट विस्तार किया है. (तस्वीर सीएम येदियुरप्पा की फेसबुक वॉल से साभार)

बीएस येडियुरप्‍पा ने कैबिनेट विस्तार किया है. (तस्वीर सीएम येदियुरप्पा की फेसबुक वॉल से साभार)

मंत्रिमंडल से आबकारी मंत्री एच. नागेश (H. Nagesh) को बाहर किया गया है, जिसके कारण कैबिनेट में एक सीट रिक्त हो गई है. राज्यपाल वजुभाई वाला (Vajubhai Vala) ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 11:48 PM IST

बेंगलुरु. कर्नाटक में 17 महीने पुरानी कैबिनेट का बुधवार को विस्तार करते हुए मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा (B.S. Yediyurappa) ने सात नए मंत्रियों को इसमें शामिल किया. इसके अलावा मंत्रिमंडल से आबकारी मंत्री एच. नागेश को बाहर किया गया है, जिसके कारण कैबिनेट में एक सीट रिक्त हो गई है. राज्यपाल वजुभाई वाला ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी.

भाजपा के कुछ विधायकों ने नाराजगी जाहिर की
नए मंत्रियों को शामिल किए जाने और पुराने मंत्री को हटाए जाने के घटनाक्रम पर भाजपा के कुछ विधायकों ने नाराजगी जाहिर की है. उनका कहना है कि जनता द्वारा निर्वाचित विधायकों के स्थान पर सीधे ऊपरी सदन में आए एमएलसी को मंत्री बनाया जा रहा है, इतना ही नहीं उन्होंने मंत्रिमंडल में बेंगलुरु और बेलगावी को सबसे ज्यादा तव्वजो दिए जाने और अन्य क्षेत्रों को नजरअंदाज किए जाने पर भी रोष जताया.

ये है नए मंत्रियों की लिस्टनए मंत्रियों में विधायक उमेश कट्टी (हुक्केरी), एस. अंगारा (सुल्लिआ), मुरुगेश निरानी (बिल्गी) और अरविंद लिम्बावली (महादेवपुरा) और एमएलसी आर. शंकर, एम. टी. बी. नागराज और सी. पी. योगेश्वर शामिल हैं. शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा, उनकी कैबिनेट सहयोगी, भाजपा नेता और पदाधिकारी, पार्टी के महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नलिन कुमार कतील, राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी, नए मंत्रियों के परिजन और समर्थक सहित अन्य लोग उपस्थित थे.

यह कैबिनेट का तीसरा विस्तार है
जुलाई 2019 में येदियुरप्पा के फिर से मुख्यमंत्री बनने के बाद यह कैबिनेट का तीसरा विस्तार है. कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन की पूर्ववर्ती सरकार 17 विधायकों के इस्तीफे के बाद गिर गई थी. सभी विधायक बाद में भाजपा में शामिल हो गए थे. मंत्रियों में पार्टी के कुछ पुराने चेहरों के अलावा कांग्रेस-जद(एस) से आए विधायक एवं विधान पार्षद (एमएलसी) शामिल हैं. येदियुरप्पा ने वादा निभाते हुए पुरानी सरकार से बगावत करके भाजपा में आए नेताओं में से एमएलसी आर. शंकर और एम. टी. बी. नागराज को मंत्रिमंडल में शामिल किया है. ये दोनों पूर्ववर्ती कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार में भी मंत्री थे.

राज्य में 2019 में राजनीतिक संकट के दौरान कांग्रेस-जद(एस) के बागी विधायकों को संभालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले एक अन्य एमएलसी योगेश्वर को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. यह पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में भी मंत्री थे. आज मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले भाजपा के पुराने चेहरे हैं… कट्टी, अंगारा, निरानी और लिम्बावली.






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *