INDvsAUS: केएल राहुल बोले- ना तो पावर हिटर हूं, ना ही बनना चाहता हूं

पावर हिटर नहीं बनना चाहते केएल राहुल

पावर हिटर नहीं बनना चाहते केएल राहुल

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पावर हिटर बड़े लोकप्रिय होते हैं, लेकिन भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल (KL Rahul) को यह स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं है कि वह ना तो ‘पावर हिटर’ हैं और ना ही उनमें ऐसा बनने की लालसा है.

सिडनी. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पावर हिटर बड़े लोकप्रिय होते हैं, लेकिन भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल (KL Rahul) को यह स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं है कि वह ना तो ‘पावर हिटर’ हैं और ना ही उनमें ऐसा बनने की लालसा है. अपनी कलात्मक बल्लेबाजी के लिए विख्यात राहुल ने कहा कि वह आक्रामक बल्लेबाजी किए बिना भी 160-170 के स्ट्राइक रेट से रन बना सकते हैं. उन्होंने कहा, ”मैं अपनी बल्लेबाजी को पावर हिटिंग नहीं कहूंगा, क्योंकि मैं ईमानदारी से कहूं तो मैं वह नहीं कर सकता.”

उन्होंने कहा, ”मेरे पास कुछ तकनीकी कौशल है और मैं टीम की जरूरत के अनुसार भूमिका निभाने में विश्वास करता हूं. अगर 160 या 170 की स्ट्राइक रेट से भी रन बनाने होंगे तो मैं दूसरे तरीके से बनाने की कोशिश करूंगा.”पिछले एक साल से वह 50 ओवरों का क्रिकेट नियमित रूप से खेल रहे हैं और उन्हें खुशी है कि वह अच्छे फॉर्म में हैं.

ICC Awards of the Decade: एमएस धोनी 2 अवॉर्ड के लिए नामित, विराट कोहली से टक्कर

उन्होंने कहा, ”मैं इतने लंबे समय तक लगातार कभी नहीं खेला. मुझे अच्छा लग रहा है कि टीम की जीत में योगदान दे रहा हूं और अपनी भूमिका निभा रहा हूं.” ऑस्ट्रेलियाई टीम (Australia Cricket Team) के बारे में पूछने पर उन्होंने मार्नस लाबुशेन (Marnus Labuschagne) की तारीफ की, लेकिन इस बात से इनकार किया वह अनजान खिलाड़ी है.केएल राहुल ने कहा, ”मुझे नहीं लगता कि अब वह अनजान है. वह शीर्ष पांच में है और पिछले 12-5 महीने से काफी रन बना रहा है. वह कोरोना महामारी से पहले भी लगातार अच्छा खेल रहा था. उम्मीद है कि हमारे खिलाफ वह रन नहीं बना सकेगा. हमारे गेंदबाज बहुत अच्छे हैं और उसके लिए यह अच्छी चुनौती होगी.” उन्होंने आईपीएल में अपने साथी खिलाड़ी रहे ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) को भी खतरनाक बल्लेबाज बताया.

IND vs AUS: मां ने मजदूरी कर पाला पेट, आज टीम इंडिया की जर्सी में नजर आए टी नटराजन

उन्होंने कहा, ”वह खतरनाक खिलाड़ी हैं और यही वजह है कि हमने उसे आईपीएल में अपनी टीम में रखा था.” बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया सीरीज की शुरुआत 27 नवंबर से वनडे सीरीज के साथ होगी. तीन मैचों की वनडे सीरीज के बाद दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जाएगी. इसके बाद 17 दिसंबर से चार मैचों की टेस्ट सीरीज (बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी) दोनों टीमों के बीच खेली जाएगी.



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *